फोटोकॉपी मशीन (Photocopy Machine) - आज का Student



आज कल के electronic युग में हर जगह electronic items है। मगर school और collage में सबसे ज्यादा पाया जाने वाला  item है फोटोकॉपी मशीन (Photocopy Machine)। एक एक class में 50-50 फोटोकॉपी मशीन। जिनका काम होता है सिर्फ teacher /Professor के द्वारा दिये गये home work की फ़ोटो कॉपी (होम वर्क की नक़ल करना, दूसरे की कापी से) करना। इसी तरह यह सिलसिला पुरे साल चलता रहता है, और अगर student पुरे साल फ़ोटो कॉपी ही करेगा तो exam में भी तो वही करेगा।

टीचर हमेशा कहते है। होम वर्क complete चाहिए, मगर कभी यह नही बताते की कैसे करना है| 

अगर आप किसी दुकान से कोई Rs.1000 के सामान को Rs.1000 pay करके घर लाये और घर आते ही दुकानदार आ कर कहे Rs.1000 और दो। आप बोलेंगे किस बात के? वो कहता है- Rs.1000 तो दुकान में देने होते है, और Rs.1000 घर जा के देने होंगे। उस time आप को गुस्सा जरुर  आएगा। एक ही सामान को खरीदने के लिए दो-दो बार पैसे पडरहा है। ऐसा ही रोज होता है स्कूलो / collage में बच्चों के साथ। वो पहले तो homework को कॉपी करने में टाइम ख़राब करते है। और फिर उसको याद करने में उतना ही टाइम लगाते है।
 और फिर भी exam में जब उसका use करना होता है। तो student को पता चलता है की उसे तो कुछ याद ही नही है। वो सभी questions में confuse रहता है। 

क्योंकि उसने किसी भी question की लिख कर प्रैक्टिस नही की।

Teachers को चाहिए की स्टूडेंट्स को समझाए की कुछ भी copy ना करे। 
बल्कि पहले questions answers को पढे समझे, फिर बिना देखे लिखे । इससे 3 काम होंगे -
1. होम वर्क complete हो जायेगा
2. Chapters याद हो जायेंगे
3. लिखने की practice हो जायेगी।

और जो चीज student एक बार बिना देखे लिख सकते है, वो तो student एग्जाम में भी लिख सकते है।

Teachers को चाहिए कि per chapter खत्म होने के बाद बच्चों का weekly test ले, कि जो chapter complete हुआ हैं वो उन्हें आता भी है की नहीं। अगर बच्चे weekly टेस्ट में score नही करते तो उनका home work null माना जाना जाए। और ये बात बच्चों को बार बार कहे की चाहे वो एक लाइन ही लिखे या paragraph उसे खुद और अपने शब्दों में बिना देखे लिखे।


इस तरह से एक अच्छा खासा पढ़ने वाला बच्चा भी dull हो जायेगा। क्योंकि वो भी पुरे साल फ़ोटो कॉपी करने में ही busy रहता हैं| और फिर कुछ साल बाद बच्चा सिर्फ फ़ोटो कॉपी की दुकान में काम करने लायक ही रह जाता है, क्योंकि उसने कुछ और तो सीखा नही होता।

अगर हमें अपने देश के भविष्य (Students) को strong-minded करना है तो अपने इस loos education system को change करना होगा |


- केवल कुमार
मैकेनिकल इंजिनियर


Share on Google Plus

About Anil Dwivedi

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! अपनी प्रतिक्रियाएँ हमें बेझिझक दें !!