पढाई एक खेल है..!! ~ A Motivational Story in Hindi

पढाई एक खेल है..!! ~ Study is a Fun game.


हमारे बचपन मे सब ने Mario games खेला है। और अभी भी आप अनेक प्रकार के गैम खलते है- जैसे Temple Run.

आप खेलते समय क्या करते है- जब भी आप को सोने के सिक्के मिलते है, आप और ज्यादा से ज्यादा सोने के सिक्के लेने की कोशिश करते है। कही कोई रुकावट आ जाती है तो आप उस जगह को और उस रुकावट को याद कर लेते है की दुबारा यहा नही फसना है। और अगर कोई रुकावट आपसे पार नही होती तो आप ऐसे व्यक्ति के पास जाते है जिसने उसे पार करा हो पहले। जिससे वो आपकी मदद करे और आप उस Level को पार(cross) कर सके।

अगर आप ये सब काम नही करते तो ना ही आप कभी उस game के expert बन पाते है और ना ही आपको वो game खेलने मे मजा आता है।
बस आप सभी students को यही समझना है की पढ़ाई एक प्रश्न उत्तर रटना नही है। ये एक बहुत ही अच्छा खेल है। और इसे खेलने का एक बड़ा ही आसान तरीका भी है।

कोई भी पाठ(Chapter) किसी भी विषय का लीजिये और एक पेन्सिल और बस पाठ को पढ़ना शूरू कर दीजिये| पढ़ते पढ़ते जब भी कोई मुख्य बिंदु (Important Point) यानी की सोने का सिक्का सामने आये उसे under line कर लीजिये |
 कही पर भी अगर कोए बिंदु समझ में ना आये Game में रुकावट की तरह तो उसे गोले (or underline) से निशान कर ले। एक बार दोबारा से उसे समझने की कोशिश करे और अगर फिर भी समझ में न आये तो किसी Expert की मदद (Help) ले| जिससे की वो Level आप आसानी से complete कर सके |
बस फिर क्या करना है। एक बार खेल दोबारा से खेलना है। मगर इस बार complete chapter नहीं पढना है- इस बार आप को सिर्फ मुख्य बिन्दुओ ओर रुकावटो को ही पढ़ना है।

हो गया पाठ खत्म।

और अंत मे उस पाठ के प्रश्न हल करके देखना है की हमे याद है की नही या कही कोई रुकावट तो नहीं आगई।

अगर सारे प्रश्न हल हो जाते है तो ठीक है वरना खेल दोबारा से खेलने की जरूरत है, लेकिन इस बार आप को वही Level खेलने है जिनके प्रशन आप से हल नही होए है।

यकीन मानिए एक बार इस तरीके से student पढ़ना शुरू कर दे। ऐसा हो ही नही सकता की वो एक भी प्रशन exam मे छोड़ कर आये।


- केवल कुमार
मैकेनिकल इंजिनियर
RRB Guwahati




यदि आपके पास हिंदी में कोई लेख, प्रेरणादायक कहानी या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया email करें. हमारी Id है: er.anildwivedi@gmail.comanil@lets-inspire.com.  हम उसे आपके नाम साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. धन्यवाद !!
Share on Google Plus

About Anil Dwivedi

1 टिप्पणियाँ:

  1. शानदार पोस्ट ... बहुत ही बढ़िया लगा पढ़कर .... Thanks for sharing such a nice article!! :) :)

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! अपनी प्रतिक्रियाएँ हमें बेझिझक दें !!