विश्वास में अपार शक्ति है

सुप्रसिद्ध वैज्ञानिक डॉक्टर जगदीशचंद्र बोस ने यह खोज की कि सभी पेड़-पौधों में जीव-जंतु एवं प्राणी की भांति प्राण होते हैं, वे दुःख-दर्द का अनुभव करते हैं। यदि पौधों को जहर दे दिया जाए, तो वे भी मर जाते हैं। अपने इस अनुसंधान का पदर्शन करने के दौरान, इंग्लैंड में उन्होेंने एक इंजेक्शन में जहर भरकर उसे एक पौधे में लगा दिया, लेकिन पौधा मरा नहीं। वहां पर एकत्रित जनसमुदाय उनकी हंसी उड़ाने लगा। चूँकि उन्हें अपनी खोज और उससे कहीं ज्यादा स्वयं पर पूरा विश्वास था, उसी वक्त उन्होंने सोचा कि जब यह पौधा इस जहर से नहीं मर सकता, तो मैं भी इस जहर से कैसे मर सकता हूँ? वे उसी जहर का इंजेक्शन स्वयं में भी लगाने को तैयार हुए कि आयोजकों में से एक व्यक्ति ने उनका हाथ रोककर कहा- ‘सर, हमने जहर के स्थान पर इस शीशी में रंगीन पानी भर दिया था।डॉक्टर बोस ने वह प्रयोग वास्तविक जहर से दोबारा किया और पौधा धीरे-धीरे मुरझा गया। उन्होंने अपने प्रयास और स्वयं पर इतना अटूट विश्वास था कि अंत में पूरे विश्व को उनकी इस खोज पर पूर्ण मान्यता देनी पड़ी।

निष्कर्ष:

आपका विश्वास आपकी सफलता की बुनियाद है। विश्वास से ही आपके साहस में अभूतपूर्व वृद्धि होती है। जिस समय आप यह कहेंगेमैं इस लक्ष्य को अवश्य पूरा करूँगा, क्योंकि मैंने विश्वास से इसका निर्धारण किया है और फिर संकल्प लिया है‘, तब इससे केवल आपका साहस ही बढ़ेगा, बल्कि आत्मविश्वास की शक्ति में भी प्रबलता आएगी। आपकी योग्यता और अधिक प्रखर होकर नकारात्मक विचारधारा को नष्ट कर देगी। अतः आप स्वयं पर विश्वास रखें और संशय अथवा अविश्वास को मन में कहीं स्थान दें। आप विश्वास के साथ अपने निर्णय पर अटल रहें।

याद रखे...

स्वयं में विश्वास होने के कारण ही दूसरे लोग आप में विश्वास करते हैं और दूसरों का विश्वास जीतना आपकी सफलता का निश्चित मापदंड है।




“You have to believe in yourself. Even when I was in the orphanage, I thought of myself as the greatest actor in the world.”        -Charlie Chaplin (1889-1977)


Share on Google Plus

About Anil Dwivedi

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! अपनी प्रतिक्रियाएँ हमें बेझिझक दें !!