कोरोना वायरस पर कविता - Poetry on Corona Virus in Hindi


कवि कोरोना वायरस को एक आतंकवादी के रूप में प्रस्तुत करना चाहता है -



‘आतंकवादी कोरोना‘ - कोरोना से जंग


बंद हुआ दुनिया का सुख चैन से सोना, और शुरू हुआ है जोर जोर से रोना।

क्योंकि पीछे पड़ गया एक अत्यंत छोटा , भयानक बाहुबली नन्हा मुन्ना कोरोना।।


कोरोना बाबू घुस रहे चोरी चोरी हर देश में, बंद कर डाला लोगों का आना जाना विदेश में।

हाथ मिलना दूर हुआ, दूर से करो राम राम, वरना कोरोना कर देगा तुम्हारा राम नाम।।


कर देगा राम नाम इस लिए बचके रहना जरूरी, 3-layer  का मास्क पहनने में ही दिखाओ बहादुरी।।

क्योंकि चाइना का यह माल घूम रहा गली-बाजार में, इस बार चारो तरफ चल रहा बस यही समाचार।


भूल से कोई ना कहना चाइना माल है बेकार, वरना कोरोना की जादू की झप्पी कर देगा उपचार।।

कोरोना के बेशुमार प्यार से हरएक देश परेशान, ढूंढ रहे कोरोना जी को ठिकाने लगाने का समाधान।


समाधान अभी सिर्फ बचाव बस यही रखो ध्यान, कोरोना को छू भी ना पर रहा विश्व का विज्ञान।।

विश्व का विज्ञान फेल मुसीबत में आजादी व आबादी, लगे दोनों को ठिकाने लगा के दम लेगा कोरोना आतंकवादी।।




यदि आपके पास हिंदी में कोई लेख, प्रेरणादायक कहानी या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया email करें. हमारी Id है: er.anildwivedi@gmail.comanil@lets-inspire.com.  हम उसे आपके नाम साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. धन्यवाद !!
Share on Google Plus

About Anil Dwivedi

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! अपनी प्रतिक्रियाएँ हमें बेझिझक दें !!